MP GK: Madhya Pradesh ke Sahityakar {मध्यप्रदेश के प्रमुख साहित्यकार, एक नजर में}

Madhya Pradesh ke Sahityakar (मध्यप्रदेश के प्रमुख साहित्यकार)

साहित्य के संदर्भ में देखा जाए, तो संस्कृत के महान साहित्यकार  कालिदास, भर्तृहरि और बाणभट्ट मध्य प्रदेश की ही निवासी थे। मध्यकाल एवं आधुनिक काल में हिंदी का विकास हुआ और प्रदेश में साहित्य अधिकतर हिं:दी एवं उनकी गोलियों में लिखा जाने लगा। मध्यप्रदेश के साहित्यकार (Madhya Pradesh ke Sahityakar) का अध्ययन मुख्य तीन बिंदुओं के तहत किया जा सकता है जो इस प्रकार है। 



MP ke Pramukh sahityakar

 1. प्राचीन काल के साहित्यकार 

मध्य-प्रदेश के प्राचीन काल के प्रमुख साहित्यकार इस प्रकार है। 

  •  कालिदास
  •  भर्तृहरि
  •  भवभूति
  •  बाणभट्ट

2. मध्य काल के साहित्यकार  

राज्य से संबंध रखने वाले मध्य काल के प्रमुख साहित्यकार इस प्रकार है। 

  •  जगनिक
  •   केशवदास
  •  सिंगाजी
  •  भूषण
  •  पद्माकर
  •  घाघ
  •  ईसुरी

3. आधुनिक काल के साहित्यकार  

मध्य प्रदेश से संबंध रखने वाले आधुनिक काल के प्रमुख साहित्यकार इस प्रकार हैं। 

    • माखनलाल चतुर्वेदी
    • मुल्ला रमूजी
    • बालकृष्ण शर्मा नवीन
    • सुभद्रा कुमारी चौहान
    • भवानी प्रसाद मिश्र
    • गजानन माधव मुक्तिबोध
    •  हरिशंकर परसाई
    •  शरद जोशी
    •  आचार्य नंददुलारे वाजपेई
    •  डॉ शिवमंगल सिंह सुमन 




ये भी जाने : मध्य प्रदेश के प्रमुख लोकगीत

मध्यप्रदेश की प्रमुख साहित्यकार एवं उनकी रचनाएं 

madhya pradesh ke kaviyon ke naam

साहित्यकार

रचनाएं 

बाणभट्ट हर्षचरित, कादंबरी
कालिदास अभिज्ञानशकुंतलम, मेघदूत, कुमारसंभव, रघुवंशम्, ऋतुसंहार, विक्रमोर्वशीयम 
भर्तृहरि श्रृंगार शतक, नीति शतक, महावीर चरित
भवभूति उत्तर रामचरित, मालती माधव, महावीर चरित
केशवदास रामचंद्रिका, रसिकप्रिया, वीर सिंह चरित, कवि प्रिया, विज्ञान गीता,रतन बावनी, जहांगीर जस चंद्रिका, नखशिख छंद माला
पद्माकर कलि पचीसी, आलीशाह प्रकाश, जगत विनोद, राम रसायन, गंगा लहरी, प्रबोध पचासा, हितोपदेश
भूषण शिवा बावनी, छत्रसाल दशक, भूषण हजारा, भूषण उल्लास, शिवराज भूषण, दूषण उल्लास
ईसुरी ईसुरी  प्रकाश,ईसुरी सतसई
सिंगाजी परचुरी,  बारहमासी
घाघ घाघ भड्डरी की कहावतें
जगनिक आल्हा खंड
माखनलाल चतुर्वेदी पुष्प की अभिलाषा, हिम किरीटनी, हिम तरंगिणी, युग चरण, मरण ज्वर, बिजुरी, समर्पण, बनवासी
सुभद्रा कुमारी चौहान झांसी की रानी, राखी की चुनौती, वीरों का कैसा हो बसंत, बचपन, मुकुल,  त्रिधारा,बिखरे मोती
शरद जोशी पिछले दिनों, रहा किनारे बैठ,  जीप पर सवार इल्लियां, एक था गधा, अंधों का हाथी, तिलिस्म
आचार्य नंददुलारे वाजपेई हिंदी साहित्य:  20वीं शताब्दी, नए प्रश्न आधुनिक साहित्य, रीति और शैली, राष्ट्रभाषा की कुछ समस्याएं
  मुल्ला रमूजी  लाठी और भैंस, शादी, औरत  जात, मुसाफिरखाना, तारीख, जिंदगी, शिफा खाना, अंगूरा
बालकृष्ण शर्मा नवीन   कुमकुम, रश्मि रेखा, स्तवन, अपलक, उर्मिला
गजानन माधव मुक्तिबोध चांद का मुंह टेढ़ा है, नए निबंध, कामायनी; एक पुनर्विचार, भूरी भूरी खाक धूल
भवानी प्रसाद मिश्र   गांधी पंचशती, गीत फरोश, चकित है दुख, खुशबू के शिलालेख, बुनी हुई रस्सी
हरिशंकर परसाई जैसे उनके दिन फिरे, हंसते हैं रोते हैं, रानी नागफनी की कहानी, भूत के पांव पीछे, तट की खोज 

मध्य प्रदेश के प्रमुख साहित्यकार (Madhya Pradesh ke Sahityakar) से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को हमने इस पोस्ट में जाना, ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी फेसबुक पेज से अवश्य जोड़िए यहां पर आपको सरकारी नौकरी से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी समय-समय पर प्राप्त होती रहती है, धन्यवाद!!!


For more update please like our Facebook page…

ये भी पढे:



Leave a Comment

error: