MP TET 2020: हिंदी में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न (Model Paper)

Samvida Shikshak Varg 3 Model Paper hindi bhasha

Samvida Shikshak Varg 3 Model Paper- Hindi Bhasha

इस पोस्ट मे हम हिन्दी भाषा के बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर (samvida shikshak varg 3 model paper) शेअर कर रहे है जो कि आगामी मध्य प्रदेश संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा के नवीनतम सिलैबस पर आधारित है। MPTET Primary teacher परीक्षा मे हिन्दी भाषा से 30 प्रश्न पुछे जाएगे इसी को ध्यान में रखते हुए हमने MPTET Syllabus पर आधारित samvida shikshak varg 3 model paper के 30  महत्वपूर्ण प्रश्नों को आप सभी के समक्ष प्रस्तुत किया है। आशा है यह आपके लिए उपयोगी साबित होगा। 



निर्देश : (1-15) नीचे दिए गए पश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए-

1. पूरी पाश्वचर्या में_______ में भाषा भूमिका को अनदेखा नहीं किया जा सकता।

(a) आंकलन-निर्माण (b) मूल्य-निर्माण (c) ज्ञान-निर्माण (d) व्याकरण-निर्माण

Ans. (b)

2. पाथमिक कक्षाओं के भाषा शिक्षक होने के नाते आपकी सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका है

(a) कक्षा में पाठ-पुस्तक का अच्छी तरह से निर्वाह करना

(b) बच्चों की भाषाई क्षमता के विकास के लिए तरह-तरह के अवसर जुटाना

(c) बच्चों को वाद-विवाद के लिए तैयार करना

(d) विद्यार्थियों को सर्वाधिक अंक प्राप्त करने लिए तैयार करना

Ans. (b)

3. दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला रोहित हिन्दी की कक्षा में अपनी मातृभाषा में बात करता है। आप क्या करेंगे?

(a) उसे बिल्कुल अनदेखा कर पढ़ाते रहेंगे

(b) उसकी भाषा को समझने की कोशिश करेंगे

(c) बाकी बच्चों से उसकी भाषा सीखने के लिए कहेंगे

(d) उसे डांटेंगे कि वह कक्षा में मातृभाषा पयोग न करें

Ans. (b)

4. ‘पढ़ना’ सीखने के लिए कौन-सा उपकौशल अनिवार्य नहीं है?

(a) भाषा की संरचना की समझ

(b) भावात्मक संबंध

(c) वर्णमाला याद करने का कौशल

(d) अनुमान लगाने का कौशल

Ans. (c)

5. द्विभाषिक बच्चे ______ विकास, सामाजिक सहिष्णुता और ____चिंतन में अपेक्षाकृत बेहतर होते हैं।

(a) संक्रियात्मक, केंद्रित

(b) संज्ञानात्मक, सीमित

(c) संज्ञानात्मक, विस्तृत

(d) संक्रियात्मक, सीमित

Ans. (c)

6. निम्नलिखित में से किसके अभाव में हम पढ़ नहीं सकते?

(a) संयुक्ताक्षरों की पहचान

(b) लिपि से परिचय

(c) बारहखड़ी से परिचय

(d) वर्णमाला की क्रमबद्धता का ज्ञान

Ans. (d)

7. भाषा और विचार के संबंधों की चर्चा में अग्रणी है :

(a) वाइगोत्स्की (b) पियाजे

(c) स्किनर (d) चॉम्स्की

Ans. (a)

8. सिद्धार्थ की मां ने अपने परिवार के सदस्यों से अनुरोध किया है कि वे घर में एक ही भाषा का पयोग करें जिससे कि सिद्धार्थ का भाषाई विकास ठीक से हो सके । उनके बारे में आप क्या कहेंगे?

(a) वह भाषा-अर्जन के सिद्धांतों की गहरी समझ रखती है

(b) वह सिद्धार्थ को समृद्ध भाषिक परिवेश से वंचित कर रही हैं

(c) वह सिद्धार्थ के भाषिक परिवेश में किसी पकार का अवरोध नहीं चाहतीं

(d) वह सिद्धार्थ के भाषाई विकास के लिए विशेष पय% कर रही है

Ans. (c)

9. पाथमिक स्तर पर भाषा-शिक्षण के संदर्भ में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है कि बच्चे :

(a) शब्दों को जोड़-जोड़कर वाक्य पढ़ सकें

(b) लिखी/छपी सामग्री का अर्थ समझ सकें

(c) लिखी/छपी सामग्री को बोल-बोलकर पढ़ सकें

(d) अक्षरों को जोड़ जोड़कर पड़ सकें

Ans. (b)

10. प्राथमिक स्तर पर लेखन क्षमता के संदर्भ में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है :

(a) सुलेख

(b) वर्तनी

(c) मौलिक विचार

(d) श्रुतलेख

Ans. (c)

11. निम्नलिखित में से कौन-सी गतिविधि श्रवण एवं वाचन कौशलों के विकास के लिए सर्वाधिक उपयुक्त होगी?

(a) पश्नोत्तर सत्र आयोजित करना

(b) रेडियो समाचार सुनाना

(c) कहानी सुनाकर उस पर बच्चों की पतिक्रिया जानना

(d) हावभाव के साथ कविता बुलवाना

Ans. (c)


12. वाणी______ होती है और लिखित भाषा की तुलना में काफी तेजी से बदलती रहती है।

(a) स्थायी (b) गौण (c) स्थिर (d) अस्थायी

Ans. (c)

13. ‘बहुभाषी कक्षा’ से तात्पर्य है-

(a) जिस कक्षा के शिक्षक/शिक्षिका दो या दो से अधिक भाषाएं पढ़-लिख सकते हों

(b) जिस कक्षा में कम-से-कम दो भाषाओं में पाठ्य-पुस्तक उपलब्ध हो

(c) जिस कक्षा में पत्येक बच्चे के घर की बोली को सम्मान दिया जाता हो

(d) जहां बहुत-सी भाषाओं का अध्यापन किया जाता है

Ans. (c)

14. संज्ञान के स्तर पर विकसित ______ अन्य भाषाओह्यं में आसानी से अनूदित होती रहती है।

(a) भाषा क्षमता

(b) ज्ञान क्षमता

(c) व्याकरण क्षमता

(d) तर्क क्षमता

Ans. (a)

15. भाषा-शिक्षण को _____ संदर्भ में रखकर देखने की आवश्यकता है।

(a) बहुभाषी

(b) आर्थिक

(c) सांस्कृतिक

(d) नैतिक

Ans. (a)


निर्देश : (16-21) नीचे दिए गए पद्यांश को पढ़कर पूछ गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए- हवा चले अनुकूल तो नावें नौसिखिए भी खे लेते है, सहज डगर पर लंगड़े भी चल बैसाखी से लेते हैं। मिट जाते जो दीप स्वयं रोशन कर लाख चिरागों को नमन उन्हें है, जो लौटा लाते हैं गई बहारों को । फैलाकर के हाथ किसी के सम्मुख झुकना आसां है, बहती नदिया से पानी पी प्यास बुझाना आसां है, नित्य खोदकर नए कुं जो सबकी प्यास बुझाते हैं वही लोग हैं जो सदियों तक जग में पूजे जाते है ।

16. कवि उन्हें नमन कर रहा है जो :

(a) सरल मार्ग़ों पर चलते है

(b) दूसरो को पेरणा देकर मरते है

(c) लाखों दीपक जलाते है

(d) पर नाव चला लेते हैं

Ans. (b)

17. कविता कां ‘बैसाखी’ का भावार्थ है :

(a) एक फसल

(b) एक महीना

(c) सहारा

(d) सीढ़ी

Ans. (c)

18. ‘पी प्यास बुझाना आसां है’-मे अलंकार है :

(a) रूपक

(b) अनुप्रास

(c) मानवीकरण

(d) उपमा

Ans. (b)

19. समाज उन्हें सदा सम्मानित करता है जो :

(a) नित्य नए कुं खोदते हैं

(b) प्यासे को पानी पिलाते है

(c) अपने कामों से सबका हित करते है

(d) सदिर्यो तक पूजे जाते है

Ans. (c)

20. कवि के अनुसार उनका जीवन आसान नहीं है, जो :

(a) स्वयं अपने ही लिए साधन जुटाते हैं

(b) लोगों के सामने हाथ फैलाते है

(c) बैसाखी के सहारे चलते है

(d) परिश्रम से बीती बहारों को लौटा लाते है

Ans. (d)

21. ‘नौसिखिया’ है

(a) नया सीखने वाला

(b) नौ विषय जानने वाला

(c) नए विषय पढ़ने वाला

(d) नया सिखाने वाला

Ans. (a)

निर्देश : (पश्न सं0 22 से 30) नीचे दिए गए गद्यांश को पढ़कर पूछे गए पश्नों के सही/सबसे उचित उत्तर वाले विकल्प को चुनिए-

लघु उद्योग उन उद्योगों को कहा जाता है जिनके समारम्भ एवं आयोजन के लिए भारी-भरकम साधनों की आवश्यकता नहीं पड़ती। वे थोड़े-से स्थान पर, थोड़ी पूंजी और अल्प साधनों से ही आरम्भ किए जा सकते हैं। फिर भी उनसे सुनियोजित ढ़ग से अधिकाधिक लाभ प्राप्त करके देश की निर्धनता, गरीबी और विषमताओं से एक सीमा तक लड़ा जा सकता है। अपने आकार-प्रकार के साधनों की लघुता व अल्पता के कारण ही इस प्रकार के उद्योग-धंधो को कुटीर-उद्योग भी कहा जाता है

इस प्रकार के उद्योग-धंधों को कुटीर-उद्योग भी कहा जाता है। इस प्रकार के उद्योग-धंधो अपने घर में भी आरम्भ किए जा सकते हैं और अपने सीमित साधनों का सदुपयोग करके आर्थिक लाभ कमाया जा सकता है और सुखी-समृद्ध बना जा सकता है। भारत जैसे देश के लिए तो इस प्रकार के लघु उद्योगों का महत्व और भी बढ़ जाता है क्योंकि यहां युवाओं की एक बहुत बड़ी संख्या बेरोजगार है। इसी कारण महात्मा गांधी ने मशीनीकरण का विरोध किया था। उनकी यह स्पष्ट धारणा थी कि लघु उद्योगों को प्रश्रय देने से लोग स्वावलम्बी बनेंगे, मजदूर-किसान फसलों की बुआई-कटाई से फुर्सत पाकर अपने खाली समय का सदुपयोग भी करेंगे। इस प्रकार आर्थिक समृद्धि तो बढ़ेगी ही, साथ ही लोगों को अपने घर के पास रोजगार मिल सकेगा।

22. उन उद्योगों को लघु उद्योग कहा जाता है :

(a) जो कम साधनों से शुरू किए जा सकते हैं

(b) जिन्हें निर्धन व्यक्ति आयोजित करते हैं

(c) जिनसे अल्प लाभ मिलता है

(d) जो अल्प अवधि तक चलते हैं

Ans. (a)

23. ‘मशीनीकरण’ से तात्पर्य है :

(a) मशीनों की अधिकाधिक खरीद

(b) मशीनों का अधिकाधिक उपयोग

(c) मशीनों का अधिकाधिक निर्माण

(d) मशीनों की अधिकाधिक उपलब्धता

Ans. (b)

24. लघु उद्योगों को पश्रय देने के संदर्भ में गांधीजी की क्या धारणा थी?

(a) समय का सदुपयोग किया जा सके

(b) किसानों को बुआई-कटाई से फुर्सत मिल सके

(c) मशीनीकरण का विरोध किया जा सके

(d) लोगों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाया जा सके

Ans. (d)

25. भारत जैसे देश के लिए लघु उद्योग- धंधों का महत्व क्यों बढ़ जाता है?

(a) क्योंकि यहाँ बहुत-से लोगों को काम की जरूरत है

(b) क्योंकि यहाँ मशीनों की उपलब्धता बहुत कम है

(c) क्योंकि यहाँ के युवा वर्ग को मशीनों पर काम करना नहीं आता

(d) क्योंकि यहाँ कम पूंजी वाले लोग अधिक संख्या में हैं

Ans. (a)

26. ‘विषमता’ का विपरीतार्थी है :

(a) पतिकूलता

(b) सामान्यत

(c) समानता (

d) असमानता

Ans. (c)

27. ‘समृद्ध’ शब्द में भाव है

(a) धनी होने का (b) समर्थ होने का

(c) रोजगार पाने का (d) खुशहाल होने का

Ans. (a)

28. ‘अल्पता’ शब्द है :

(a) तद्भव (b) तत्सम (c) देशज (d) विदेशी

Ans. (b)

29. कौन-सा शब्द-युग्म शेष से भिन्न है?

(a) दिन-रात (b) भारी-भरकम (c) पशु-पक्षी (d) माता-पिता

Ans. (b)

30. गद्यांश के अनुसार ‘पश्रय’ शब्द का भाव है

(a) संरक्षण देना (b) नियुक्ति करना

(c) अनुमोदन करना (d) स्वीकृति देना

Ans. (a)

इस पोस्ट मे हमने हिन्दी भाषा (Samvida Shikshak Varg 3 Model Paper) के 30 महत्वपूर्ण  प्रश्नो का अध्ययन किया है।  MPTET परीक्षा मे अच्छे अंक प्राप्त करेने के लिए आपको नियमित Mock टेस्ट का अभ्यास करना चाहिए जिससे कि आपको स्वयं के मूल्यांकन मे सहायता होगी। MP TET  Mock Test link नीचे दी गई है जहा आप नवीनतम सिलैबस पर आधारित फ्री मोकटेस्ट लगा सकते है। 

ऐसी ही अन्य महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी फेसबुक पेज से भी जुड़ सकते हैं। यदि आप अन्य किसी विषय पर फ्री मॉक टेस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके अवश्य बताएं, हम उस विषय पर टेस्ट बनाने का पूरा प्रयास करेंगे धन्यवाद!!



For The Latest Activities And News Follow Our Social Media Handles:

MP TET NOTES:  भाषायी विकास हेतु निर्धारित शिक्षाशास्त्र ( Hindi pedagogy)

the topic wise study material for the MP TET exam (Samvida shikshak grade-3 study material ). This study material helps you to boost up your score in the examination. Candidates can read complete MPTET study material in the Hindi language.

1. भाषा सीखना और ग्रहणशीलता Click Here
2. भाषा शिक्षण के सिद्धांत Click Here
3. भाषा शिक्षण में सुनने बोलने की भूमिका  Click Here
4. मौखिक और लिखित अभिव्यक्ति अंतर्गत भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका Click Here
5. भाषा शिक्षण में विभिन्न स्तरों के बच्चों की चुनौती  कठिनाइयां, त्रुटियां एवं क्रमबद्ध Click Here
6. भाषा के चारों कौशल(सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना)  का मूल्यांकन Click Here



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here