G20 Shikhar Sammelan 2019: Most Important 20+Facts In Hindi (New Update*)

G20 Shikhar Sammelan 2019

जी20 शिखर सम्मेलन 2019(G20 Shikhar Sammelan)

आयोजन स्थल – ओसाका, जापान मे 28 – 29  जून 2019 संपन्न हुआ। 

G20 शिखर सम्मेलन 2019 का विषय –  “मानव केंद्रित भविष्य समाज”

जी20 शिखर सम्मेलन 2019 के विभिन्न विषय इस प्रकार हैं। 

  •  वैश्विक अर्थव्यवस्था, श्रम बाजारो का भविष्य, लैंगिक समानता, समष्टि आर्थिक नीति,डिजिटल अर्थव्यवस्था, विश्व व्यापार संगठन में सुधार वित्तीय  विनियमन, कराधान और व्यापार के मुद्दों के साथ g20 शिखर सम्मेलन 2019 ओसाका, जापान में 28 जून से 29 जून तक आयोजित किया गया। 
  • यह पहला G20 शिखर सम्मेलन है, जो जापान के द्वारा मेजवानी की गई। 
  •  G20 शिखर सम्मेलन 2019 का विषय मानव केंद्रित भविष्य समाज रखा गया था। 
  •  जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आधिकारिक तौर पर अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र ओसाका जापान में समारोह की शुरुआत की। 
  •  पिछला G20 शिखर सम्मेलन अर्जेंटीना के ब्यूनस आर्यस – 2018 मैं हुआ। 
  • 2019 G20 शिखर सम्मेलन में 8 विषय वैश्विक स्तर पर सतत विकास सुनिश्चित करने के लिए चर्चा हुई। 

थीम -1  वैश्विक अर्थव्यवस्था

  •  G20 का मिशन आर्थिक बुनियादी बातें देश वैश्विक अर्थव्यवस्था के सतत और समावेशी विकास को साकार करने के लिए। 
  •  यह विकास क्षमता को मजबूत करने के लिए ठोस कार्यों पर चर्चा करता है। 
  •  इसमें कई क्षेत्रों पर भी चर्चा की गई है जैसे अंतरराष्ट्रीय  कराधान और वित्त। 
  •  शिखर सम्मेलन में वैश्वीकरण और डिजिटलाइजेशन द्वारा खरीदे गए आर्थिक और सामाजिक रचनात्मक परिवर्तनों का जवाब देने के तरीके शामिल है। 

थीम – 2  व्यापार और निवेश

  • शिखर सम्मेलन में विकास, उत्पादकता, नवाचार, रोजगार सृजन और विकास के महत्व पर चर्चा की गई। 
  •  8 जून से 9 जून को आयोजित व्यापार और डिजिटल अर्थव्यवस्था पर जी-20 मंत्री स्तरीय बैठक निम्नांकित मुद्दों पर केंद्रित है। 

                (1) वर्तमान अंतरराष्ट्रीय व्यापार विकास पर संवाद। 

                 (2) एक ध्वनि व्यापार पर्यावरण जो बाजार संचालित निवेश निर्णय को बढ़ावा देता है। 

                 (3)  व्यापार और निवेश को बढ़ावा देना जो स्थाई और समावेशी विकास में योगदान देता है। 

                 (4)  विश्व व्यापार संगठन सुधार, द्विपक्षीय और क्षेत्रीय व्यापार समझौतों में हालिया घटनाक्रम। 

 थीम-3  नवीनता

  • शिखर सम्मेलन में निम्नलिखित आवेदन लिए जाएंगे। 

(1)  ट्रस्ट के साथ डाटा फ्री फ्लो(DFFT) 

(2) मानव केंद्रित ए.आई

(3)  डिजिटल सुरक्षा  (एसडीजी और समावेश के लिए डिजिटल) 

थीम- 4  पर्यावरण और ऊर्जा

  • जलवायु परिवर्तन
  •  ऊर्जा
  •  पर्यावरण( समुद्री प्लास्टिक  कूड़े)

 थीम-5  रोजगार

    • जनसांख्यिकी परिवर्तन के अनुकूल
    •  श्रम बाजारो में  लैंगिक समानता को बढ़ावा देना। 
    •  राष्ट्रीय नीतियों का आदान प्रदान करना। 
    •  कार्य के नए रूपों के जवाब में अभ्यास 



 थीम- 6  महिला सशक्तिकरण

  • G20 प्रतिबद्धताओं जिसमें महिलाओं और श्रम भागीदारी से संबंधित है। 
  •  विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित सहित लड़की और महिलाओं की शिक्षा के लिए समर्थन बढ़ाना। 
  •  महिला कारोबारी नेताओं और उद्यमियों के साथ  जुड़ाव। 

 थीम-7  विकास

  • सतत विकास के लिए 2030  एजेंडा। 
  •  जवाबदेही
  •  एसडीजी के लिए एसटीआई  विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार
  •  सतत विकास की दिशा में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए गुणवत्ता का बुनियादी ढांचा। 
  •  मानव पूंजी निवेश

थीम-8  स्वास्थ्य

  • सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज की उपलब्धि। 
  •  एक वृद्ध समाज के प्रति प्रतिक्रिया। 
  •  स्वास्थ्य का प्रबंधन एवं स्वास्थ्य आपात स्थिति। 

 G20 ओसाका शिखर सम्मेलन से संबंधित प्रमुख  तथ्य। 

g20 shikhar sammelan 2019 in hindi
  • सभी सदस्य पेरिस जलवायु सोने के लिए फिर से मिलेंगे यूएसए को छोड़कर। 
  •  चीन और अमेरिका व्यापार वार्ता को फिर से शुरू करने के लिए सहमत हुआ। 
  •  डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के किम को ध्वस्त क्षेत्र में नई  बैठक की पेशकश की। 
  •   व्लादिमीर पुतिन उदार पश्चिमी मूल्य पर हमले का नेतृत्व करते हैं। 

जी-20 के बारे में( ग्रुप ऑफ ट्वेंटी)

  • G20 या ग्रुप ऑफ बंटी का मिश्रण है। जो दुनिया की प्रमुख  अर्थव्यवस्थाऐ है। 
  •  यह 19 देशों एवं यूरोपीय संघ से मिलकर बना है। 

 गठन-  26 सितंबर 1999( G7 वित्त मंत्री और सेंट्रल बैंक गवर्नर की बैठक का परिणाम)

 उद्देश्य-  अंत अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिति से नीति पर विस्तार से चर्चा। 

 सदस्य देश-  20 सदस्य ( अर्जेंटीना)- ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोपीय संघ। 

 वैश्विक प्रभाव:

    • वैश्विक आर्थिक उत्पादन-  85%
    •  विश्व जनसंख्या-  66%
    •  अंतरराष्ट्रीय व्यापार-  75%
    •  वैश्विक निवेश-  80%




G20 शिखर सम्मेलन  के बारे में संक्षिप्त जानकारी-

 पहला शिखर सम्मेलन-  इस सम्मेलन की पहली बैठक 2008 में वाशिंगटन डीसी में वर्ष 2007- 2008 के वित्तीय संकट की प्रतिक्रिया की फल स्वरुप आयोजित की गई। 

भविष्य में आयोजित होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन की लिस्ट

2020 रियाद( सऊदी अरब)
2021 इटली
2022 नई दिल्ली, भारत

जी- 20 शिखर सम्मेलन 2020 

 मेजबान देश – रियाद

  •  वर्ष 2020 का G20 शिखर सम्मेलन रियाद शिखर सम्मेलन ग्रुप ऑफ ट्वेंटी की 15वीं बैठक होगी। 
  •  यह सऊदी अरब की राजधानी रियाद शहर में 21 से 22 नवंबर 2020 को आयोजित किया जाएगा 

जी-20 शिखर सम्मेलन 2022

 मेजबान देश-  भारत

  • इंडिया वर्ल्ड 2022 में जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी 75 वें स्वतंत्रता  के वर्ष के अवसर पर नई दिल्ली में करेगा। 
  •  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्जेंटीना में g20 शिखर सम्मेलन 2018 की चल रही बैठक के दौरान इसकी घोषणा की थी। 

संगठन

  • संयुक्त राष्ट्र
  •  विश्व बैंक
  •  अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक संगठन
  •  आर्थिक निगमन और विकास के लिए संगठन
  •  विश्व स्वास्थ्य संगठन
  •  अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष
  •  विश्व व्यापार संगठन
  •  वित्तीय स्थिरता बोर्ड
  •  एशियाई विकास बैंक

Read Also : List of Joint Military Exercise of India 2019 With MCQ

G20 शिखर सम्मेलन में भारत द्वारा उठाए गए मुद्दे

    • विकासशील देशों में घरेलू तथा वैश्विक व्यापार को प्रोत्साहन देने के लिए मध्यम और लघु उद्योगों की भागीदारी। 
    • डिजिटल  कराधान :  भारत ने वैश्विक डिजिटल कंपनी पर कर लगाने के लिए” महत्वपूर्ण आर्थिक उपस्थिति” की अवधारणा को अपनाने का आग्रह किया है। 
    • गैर अनुपालन कर:  भारत में गैर अनुपालन कर सीमा अधिकार से निपटने के लिए एक आत्मरक्षा आत्मक टूलकिट के विकास की बात पर भी जोर दिया है। 



G20 ओसाका शिखर सम्मेलन 2019 में भाग लेने वाले प्रमुख नेता

देश नेता
अर्जेंटीना मौरिसियो मैक्री,राष्ट्रपति
ऑस्ट्रेलिया स्टॉक मॉरीसन, प्रधानमंत्री
ब्राजील जायर बोलसनारो,राष्ट्रपति
कनाडा जस्टिन ट्रूडो, प्रधानमंत्री
चीन शी जिनपिंग, राष्ट्रपति
फ्रांस इमैनुएल मैक्रोन,  राष्ट्रपति
जर्मनी एंजेला  मर्केल,चांसलर 
इंडिया नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री
इंडोनेशिया जोको विडोडो, राष्ट्रपति
  इटली ग्यूसेप  कोटे, प्रधानमंत्री
मैक्सिको मासेर्लो एबरडे, विदेश मामलों के सचिव
रूस  व्लादीमीर पुतिन, राष्ट्रपति
सऊदी अरब मोहम्मद जिन सलमान, क्रॉउन प्रिंस
दक्षिण अफ्रीका सीरिल  रामाफोसा,राष्ट्रपति
तुर्की रिसेप तईप एर्दोआन
दक्षिण कोरिया मून-जे -इन , राष्ट्रपति
यूनाइटेड किंग्डम बेरेसा मे , प्रधानमंत्री
संयुक्त राज्य अमेरिका डोनाल्ड ट्रंप, राष्ट्रपति
यूरोपीय संघ डोनाल्ड टस्क, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष 

Read Also 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here