List of Nadi Ghati Pariyojana In India | भारत की प्रमुख बहुउद्देशीय परियोजनाएं | Indian Geography

List of Nadi Ghati Pariyojana

  इस पोस्ट में आप जानेंगे (List of Nadi Ghati Pariyojana) भारत की प्रमुख बहुउद्देशीय नदी घाटी  परियोजनाएं , ऐसी परियोजना जिसमें एक साथ कई उद्देश्य पूरे किए जा सके, बहुउद्देशीय परियोजना कहलाती है।

भारत की प्रमुख बहुउद्देशीय परियोजनाएं (List of Nadi Ghati Pariyojana)

    •  भारत की पहली जल विद्युत परियोजना 1897 में दार्जिलिंग में बनाई गई। 
    • 1901 में कर्नाटक में कावेरी नदी पर शिव समुद्रम परियोजना स्थापित की गई। 
    •  अमेरिका की  टेनेसी valley  तथा सोवियत संघ (यूक्रेन) परियोजनाएं विश्व प्रसिद्ध बहुउद्देशीय परियोजना है। 
    •  वर्तमान में विश्व में 40,000  बड़े बांध तथा भारत में 5000 बड़े बांध है। 
    •  बड़े बांध की ऊंचाई 15  मीटर से अधिक होती है। 
    •  सर्वाधिक 20,000  बड़े बांध चीन में है। 
    •  चीन का Three Gorges Dam  विश्व का सबसे बड़ा बांध है। 
    • भारत की सबसे बड़ी जल विद्युत परियोजना सतलुज नदी पर हिमाचल प्रदेश में है। 
    •  अरुणाचल प्रदेश में निर्माणाधीन सबसे बड़ी जल विद्युत परियोजना है। 
    •  नर्मदा घाटी परियोजना में 3000 से अधिक बांध जुड़े हुए हैं। 




 बहुउद्देशीय परियोजनाएं इस प्रकार हैं।

(River Valley Projects nadi ghati priyojna)

List of Nadi Ghati Pariyojana:

1.  दामोदर घाटी परियोजना

  • दामोदर घाटी परियोजना आजादी के बाद की पहली बहुउद्देशीय परियोजना है इससे अमेरिका की टेनसी घाटी परियोजना की तर्ज पर बनाया गया है। 

2.  हीराकुंड परियोजना

  •  यह परियोजना उड़ीसा में महानदी पर है। main sstream पर यह  विश्व का सबसे लंबा बांध है। 

3.  कोसी नदी घाटी परियोजना

  •  यह परियोजना कोसी नदी पर 1954 में प्रारंभ की गई। 
  •  यह भारत नेपाल की संयुक्त परियोजना है। 
  •  बिहार इसमें लाभान्वित होने वाला राज्य है। 

4.  चंबल घाटी परियोजना

  •  चंबल नदी पर यह मध्यप्रदेश व राजस्थान की संयुक्त परियोजना है।  राणा प्रताप सागर, गांधी सागर व जवाहर सागर इसी नदी पर स्थित है। 

5.  माही बजाज परियोजना

  •  माही नदी पर गुजरात राजस्थान की संयुक्त परियोजना माही बजाज परियोजना के नाम से जानी जाती है। 

6.  नर्मदा घाटी परियोजना 

  • इस परियोजना में 3 राज्य मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र एवं गुजरात शामिल है। 
  •  गुजरात में सरदार सरोवर बांध का निर्माण किया गया है तथा मध्य प्रदेश में इंदिरा सागर बांध का निर्माण किया गया। 
  • इस परियोजना में 3000 छोटे, 135 मध्यम व 30  बड़े बांध बनाए जा रहे हैं।  

7. भाखड़ा नांगल बांध परियोजना

  • यह परियोजना सतलुज नदी पर पंजाब, राजस्थान एवं हरियाणा की संयुक्त  परियोजना है। 
  •  भाखड़ा और नांगल इसकी दो प्रसिद्ध बांध है। 
  •  भाखड़ा अपने समय में भारत का सबसे ऊंचा बांध था। 
  •  इसका जलाशय गोविंद सागर के नाम से जाना जाता है।  

8.  रिहंद परियोजना

  • रिहंद परियोजना भारत की मुख्य नदी घाटी परियोजना में से एक है यह बांध एक गुरुत्वीय बांध है जो उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में पिपरी नामक  स्थान पर रिहंद नदी पर बनाया गया है। 
  • रिहंद बांध का निर्माण 1959  से 1962 के बीच हुआ था यह उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है। 
  • उत्तर प्रदेश तथा मध्य प्रदेश एवं बिहार इससे लाभान्वित राज्य हैं। 
  • दिल्ली हावड़ा को विद्युत आपूर्ति इसी से की जाती है। 
  •  रिहंद बांध से बनने वाले जलाशय को ” गोविंद बल्लभ पंत सागर”  या ” रेणु सागर” भी कहते हैं। 
  • इस जलाशय के जल को सोन नहर से मिला देने पर सोन नहर की सिंचाई क्षमता बढ़ गई है। 

9. टिहरी परियोजना

  • उत्तराखंड में भागीरथी पर रूस के सहयोग से टिहरी बांध निर्मित किया गया है।  इस बांध की ऊंचाई 260.5 मीटर है। 
  •  यह भारत का सबसे संवेदनशील बांध है।  जो भारत और यूरोपियन प्लेट के मिलन बिंदु पर स्थित है। 
  •  उत्तर प्रदेश एवं दिल्ली इससे लाभान्वित होने वाले राज्य हैं। 

10.  तुंगभद्रा परियोजना

  • तुंगभद्रा नदी पर  बनी तुंगभद्र परियोजना आंध्र प्रदेश- कर्नाटक की संयुक्त परियोजना जो दक्षिण भारत की सबसे बड़ी परियोजना है। 

11.  शरावती परियोजना 

  • यह  परियोजना कर्नाटक में शरावती नदी पर बनाई गई है। 
  • यह भारत की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक है। 

Read Also : Cricket world cup 2019 important Questions For All competitive 



12.  व्यास परियोजना

  •  व्यास परियोजना पंजाब, हरियाणा एवं राजस्थान की संयुक्त परियोजना है।

13. ऊपरी कृष्णा परियोजना 

  •  कर्नाटक में कृष्णा नदी पर स्थित इस परियोजना  का उद्घाटन 1964 में लाल बहादुर शास्त्री द्वारा किया गया। 
  • अलबट्टी बांध  इसी परियोजना से  सम्बद्ध है। जिसे लेकर कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में विवाद चल रहा है। 

14. पराम्बिकुलम अलियार परियोजना

  • केरल व तमिलनाडु की 8 छोटी नदियों को इस परियोजना से जोड़ा गया है। 

15. इंदिरा गांधी नहर परियोजना

  • 1953 में गोविंद बल्लभपंत द्वारा इसका उद्घाटन किया गया। 
  • पंजाब में व्यास सतलुज के संगम पर हरिके बैराज का निर्माण किया गया जहां से इंदिरा गांधी नहर निकाली गई। 
  •  इसे राजस्थान की जीवन रेखा भी कहा जाता है। 
  •   इंदिरा गांधी नहर परियोजना का निर्माण जर्मनी के सहयोग  हुआ है।
  •  शाखाओं सहित  यह 10,000 किलोमीटर लंबी है। 

16.  शारदा नहर परियोजना

  • शारदा बैराज में यह परियोजना प्रारंभ की गई है। 
  •  उत्तर प्रदेश के 50  से अधिक जिलों में इसका विस्तार है। 
  •  यह भारत का सबसे बड़ा नहर तंत्र है। 

17. फरक्का  बैराज परियोजना

  •  कोलकाता बंदरगाह की जलापूर्ति के लिए मुर्शिदाबाद में गंगा नदी पर इसका निर्माण किया गया है। 

18. रामगंगा परियोजना 

  • यह परियोजना उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड की संयुक्त परियोजना है। 
  • इसकी देखरेख Ramganga Command Area Development Biogramm द्वारा की जाती है।  यह सिंचाई, चकबंदी, भूमि सुधार एवं ऋण वितरण का कार्य भी करता है। 

READ ALSO : list 2019 for chief justice of all states in India


अन्य महत्वपूर्ण परियोजनाएं (Multi Purpose River Valley Projects in India)

परियोजना

नदी

राज्य

इडुक्की परियोजना ( कनाडा के सहयोग से) पेरियार नदी केरल
VKAI परियोजना ताप्ती नदी गुजरात
  जायकवाड़ी परियोजना गोदावरी म्हारा
थीन बांध परियोजना रावी नदी पंजाब
काकरा बांध परियोजना ताप्ती नदी गुजरात
कोल बांध परियोजना सतलुज  नदी हिमाचल प्रदेश
दुलहस्ती परियोजना ( फ्रांस के सहयोग से) चिनाब नदी जम्मू और कश्मीर
  पोचम्पाद परियोजना गोदावरी आंध्र प्रदेश
मयूराक्षी\ मुरली परियोजना मुरली नदी पश्चिम बंगाल
कगंसावती  परियोजना कगंसावती  नदी पश्चिम बंगाल
घाटप्रभा परियोजना घाटप्रभा कर्नाटक
मालप्रभा परियोजना मालप्रभा कर्नाटक
स्वर्णरेखा परियोजना स्वर्ण रेखा उड़ीसा एवं झारखंड
बाणसागर परियोजना सोन नदी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार
राजघाट परियोजना बेतवा नदी उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश
माताटीला परियोजना बेतवा नदी उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश
गंडक परियोजना गंडक नदी नेपाल, उत्तर प्रदेश एवं बिहार
तीस्ता परियोजना तीस्ता नदी सिक्किम
कोयलकारो परियोजना कोयलकारो नदी झारखंड 

 

For more update please like our Facebook page

Read Also



Leave a Comment

error: