UP GK: उत्तर प्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान,वन्य जीव विहार एवं पक्षी विहार

उत्तर प्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान,वन्य जीव विहार एवं पक्षी विहार

 इस पोस्ट मे हम जनेगे उत्तर प्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान,वन्य जीव विहार एवं पक्षी विहार (UP ke vanya jeev abhyaran) के बारे मे संपूर्ण जानकारी । उत्तर प्रदेश में जलवायु और धरातल की विविधता के कारण यहां अनेक प्रकार के वन्य जीव  भिन्न-भिन्न स्थानों पर पाए जाते हैं। उच्च हिमालई क्षेत्र को छोड़कर यहां के जंगलों में चीता, तेंदुआ, जंगली सुअर, रिछ, चीतल, सांभर, गीदड़, खरगोश,सेई , गिलहरी और लोमड़ी आदि जानवर पाए जाते हैं।साधारण तौर पर पाए जाने वाले पक्षी कौआ, कबूतर, बगुला, तीतर, गलगलिया,कठफोड़वा, बुलबुल, तोता, मैना आदि।  

UP ke vanya jeev abhyaran (National Park In UP)

1. राष्ट्रीय चंबल वन्य जीव विहार

  • उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश तथा राजस्थान में पढ़ने वाले चंबल के क्षेत्र में मगरमच्छ एवं घड़ियाल के संरक्षण के उद्देश्य हेतु इसकी स्थापना की गई। 
  •  भारत सरकार के सहयोग से यह योजना चलाई जा रही है। 

2.  घड़ियाल प्रजनन एवं पुनर्वास योजना

  • घड़ी आलू की लुप्त प्रजातियों के संरक्षण एवं विकास हेतु चलाई जा रही इस योजना के तहत घड़ियाल की अंडों को एकत्र करके लखनऊ जिले के कुकरैल वन तथा  बहराइच जिले के कतरनिया घाट में कृत्रिम निषेचन द्वारा बच्चा पैदा कर उनका पालन पोषण किया जाता है। 
  •  इसके पश्चात इन्हें नदी में छोड़ दिया जाता है। 

3.  दुधवा राष्ट्रीय  उद्यान (टाइगर रिजर्व)

  • राज्य का एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान लखीमपुर खीरी एवं पीलीभीत जिले के 490 वर्ग किलोमीटर वन क्षेत्र में विस्तृत है। 
  •  इसकी स्थापना वर्ष 1968 में दुधवा पशु विहार के रूप में की गई। 
  •  इस उद्यान को वर्ष 1977 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा प्रदान किया गया। 
  •  बारहसिंगा एवं शेर  जैसी दुर्लभ प्रजातियों के संरक्षण एवं समुचित विकास हेतु उद्यान की स्थापना की गई। 

ये भी जाने : Folk Dance of UP In Hindi



4. पीलीभीत टाइगर रिजर्व

    • इसका  सृजन वर्ष 2008 में किया गया। 
    •  यह पीलीभीत जिले में 1,079  वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। 
    • राज्य के  कुकरैल वन ( लखनऊ) में वर्ष 1984-85  मैं एक लुप्तप्राय प्रजातियों का प्रजनन केंद्र स्थापित किया गया। 
    •   इस केंद्र में काला हिरण,काकेर,ऊदबिला जैसी  लुप्तप्राय वन्यजीवों हेतु प्रजनन योजना चलाई जा रही है। 




उत्तर प्रदेश की वन्य जीव विहार (national park and wildlife sanctuary of up)

वन्य जीव विहार जिला स्थापना वर्ष क्षेत्रफल (वर्ग किमी)
चंद्रप्रभा वन्यजीव विहार चंदौली 1957 78
कछुआ वन्यजीव विहार वाराणसी 1989 7
किशनपुर वन्यजीव विहार लखीमपुर खीरी 1972 227
कतरनियाघाट वन्यजीव विहार बहराइच 1976 410
रानीपुर वन्यजीव विहार बांदा 1977 230
महावीर स्वामी वन्यजीव विहार ललितपुर 1977 05
राष्ट्रीय चंबल वन्यजीव विहार आगरा, इटावा 1979 635
कैमूर वन्यजीव विहार मिर्जापुर, सोनभद्र 1982 501
हस्तिनापुर वन्यजीव विहार मेरठ, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, मुरादाबाद 1986 2073
सुहागी बरवा वन्यजीव विहार महाराजगंज 1987 428
सुहेलवा  वन्यजीव विहार गोंडा, बहराइच 1988 452

ये भी जाने : UP के प्रमुख शोध संस्थान



उत्तर प्रदेश के प्रमुख पक्षी विहार (uttar pradesh ke pakshi vihar)

 पारिस्थितिकी तंत्र में एक महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 13 पक्षी विहार की स्थापना की गई है। जो इस प्रकार है। 

1. नवाबगंज पक्षी विहार
  •  जिला-  उन्नाव
  •  स्थापना वर्ष-  1986 
  •  क्षेत्रफल-  2 वर्ग किलोमीटर
2. समसपुर पक्षी विहार
  •  जिला –  रायबरेली
  •  स्थापना वर्ष –  18 सो 57
  •  क्षेत्रफल –  8 वर्ग किलोमीटर
3. लाख बहाशी पक्षी विहार
  •  जिला – कन्नौज
  •  स्थापना वर्ष –  1988
  •  क्षेत्रफल –  30 वर्ग किलोमीटर
4. सांडी पक्षी विहार
  • जिला –  हरदोई
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  3 वर्ग किलोमीटर
5. बखीरा पक्षी विहार
  • जिला –  संत कबीर नगर
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  29 वर्ग किलोमीटर
6. ओखला पक्षी विहार
  • जिला –  गौतम बुद्ध नगर
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  4 वर्ग किलोमीटर
7. पार्वती अरगा पक्षी विहार
  • जिला –  गोंडा
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  11 वर्ग किलोमीटर
8.  समान पक्षी विहार
  • जिला –  मैनपुरी
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  5 वर्ग किलोमीटर
9. विजय सागर पक्षी विहार
  • जिला –  महोबा, हमीरपुर
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल –  3 वर्ग किलोमीटर
10.  पटना पक्षी विहार
  • जिला –  एटा
  •  स्थापना वर्ष –  1990
  •  क्षेत्रफल – 1वर्ग किलोमीटर
11. सुरहाताल पक्षी विहार
  • जिला –  बलिया
  •  स्थापना वर्ष – 1991 
  •  क्षेत्रफल – 34 
12. सूर सरोवर पक्षी विहार
  • जिला –  आगरा
  •  स्थापना वर्ष –  1991 
  •  क्षेत्रफल –  4 वर्ग किलोमीटर
13.  भीमराव अंबेडकर पक्षी विहार
  • जिला –  प्रतापगढ़
  •  स्थापना वर्ष –  2003
  •  क्षेत्रफल – 4.27 वर्ग किलोमीटर 

 For The Latest Activities And News Follow Our Social Media Handles:

Related Posts:

Leave a Comment

error: Content is protected !!